उत्तरप्रदेश

UP में कहर बरपा रहा डेंगू और वायरल बुखार, फिरोजाबाद के बाद अब मथुरा-मेरठ में मचा हड़कंप

उत्तर प्रदेश के मेरठ (Meerut) में लगातार डेंगू (Dengue) के मरीजों का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है. शनिवार को 17 मरीज मिलने से जिले में डेंगू के मरीजों की संख्या 150 के पास पहुंच गई है.

नई दिल्ली: 

उत्तर प्रदेश में डेंगू (Dengue) और वायरल बुखार (Viral Fever) का कहर थम नहीं रहा है. फिरोजाबाद में अब तक कई बच्चों समेत 62 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है. मथुरा और मेरठ में भी डेंगू के मरीज हैं. पूरे यूपी में अब तक 100 से ज्यादा मौतें हो चुकी हैं. वहीं, मथुरा में 15 से ज्यादा मौतें हुई हैं. मेरठ में डेंगू के नए मरीज चिंता बढ़ा रहे हैं. करीब 80 मरीज अब भी अस्पताल में भर्ती हैं. यहां जिला प्रशासन डेंगू की रोकथाम के लिए लोगों को जागरूक करने में जुटा है. इसके अलावा वाराणसी में डेंगू के मामले कम हैं, लेकिन यहां वायरल बुखार के मरीजों की संख्या अधिक है.

उत्तर प्रदेश के मेरठ (Meerut) में लगातार डेंगू के मरीजों का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है. शनिवार को 17 मरीज मिलने से जिले में डेंगू के मरीजों की संख्या 150 के पास पहुंच गई है. मेरठ के मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि मेरठ में 84 एक्टिव केस हैं जबकि 75 मरीज स्वस्थ होकर घर वापस लौट गए हैं. अगर कल की बात करें तो डेंगू के 17 नए मरीज मेरठ में मिले थे. उन्होंने कहा कि लोग पहले के मुकाबले ज्यादा जागरूक हो रहे हैं. हर जगह लोगों ने साफ सफाई रखनी शुरू कर दी है.

मेरठ सीएमओ ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में हमें लारवा मिला है. स्वास्थ्य विभाग की टीम जिस घर में डेंगू निकलता है उसके आसपास के 50 घरों का निरीक्षण करती है. वही डेंगू के मरीज के घर के आस-पास फागिंग और इस तरह का कार्य किया जा रहा है. टीम फॉगिंग और एंटी लारवा स्प्रे लगातार कर रही है, जिसके अच्छे परिणाम हमें मिले हैं. वही डोर टू डोर सर्वे में की बात करें तो बुखार के रोगी अधिक मिले. जिसमें लगभग 3200 केस हमें बुखार के मिले. वहीं अगर बात करें तो जुखाम पीड़ित मरीजों की संख्या 12 सौ थी. जिसमें से 2 सप्ताह से अधिक खांसी वाले रोगियों की संख्या 222 है, जिनकी बलगम की जांच कराई गई.

वाराणसी में वायरल बुखार से हड़कंप
वाराणसी में डेंगू के प्रकोप में समय और सावधानी के साथ थोड़ी कमी आई है, लेकिन वायरल बुखार ने लोगों को तपा के रख दिया है. वाराणसी के अस्पतालों में डेंगू के मरीज अब धीरे-धीरे कम होने लगे हैं. डॉक्टर भी बताते हैं कि डेंगू का बुखार समय के साथ कम होने लगेगा बस यदि थोड़ी सी सावधानी रखी जाए. डेंगू का प्रकोप वाराणसी में इस कदर फैला था कि डेंगू के लिए अलग से अस्पताल में वार्ड बनाना पड़ा था, लेकिन राहत की बात यह है कि अब धीरे-धीरे डेंगू के मरीजों की संख्या कम होने लगी है. अस्पताल से मरीजों की छुट्टी होने लगी है, लेकिन वायरल फीवर में लोग अभी भी तप रहे हैं. अस्पताल में भर्ती होने वाले अधिकांश मरीज अब वायरल फीवर के हैं.

Show More

Related Articles

Back to top button
Close