Breaking News

चुनावों में ऐतिहासिक जीत के रूप में जनता का आशीर्वाद ‘लोकतंत्र की जीत’: प्रधानमंत्री मोदी

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को यहां जी-7 शिखर सम्मेलन के एक संवाद सत्र में अपने संबोधन के दौरान लोकसभा चुनावों को लेकर कहा कि भारत के लोगों ने चुनावों में ऐतिहासिक जीत के रूप में जो ‘‘आशीर्वाद” दिया है, वह ‘‘लोकतंत्र की जीत” है।

 

नेशनल डेस्क 

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को यहां जी-7 शिखर सम्मेलन के एक संवाद सत्र में अपने संबोधन के दौरान लोकसभा चुनावों को लेकर कहा कि भारत के लोगों ने चुनावों में ऐतिहासिक जीत के रूप में जो ‘‘आशीर्वाद” दिया है, वह ‘‘लोकतंत्र की जीत” है। प्रधानमंत्री ने अपने भाषण में भारत में दुनिया की सबसे बड़ी लोकतांत्रिक प्रक्रिया के विशाल पैमाने को रेखांकित करने के लिए कुछ आंकड़े भी साझा किए। यह प्रक्रिया 19 अप्रैल से एक जून के बीच सात चरणों में संपन्न हुई। मतों की गिनती चार जून को हुई। उन्होंने कृत्रिम मेधा, ऊर्जा, अफ्रीका और भूमध्य सागर पर एक संवाद सत्र को संबोधित किया। इस सत्र को पोप फ्रांसिस सहित अन्य देशों के नेताओं ने भी संबोधित किया।

मोदी ने कहा, ‘‘भारत के लोगों ने इस ऐतिहासिक जीत के रूप में जो आशीर्वाद दिया है, वह लोकतंत्र की जीत है।” उन्होंने कहा कि यह पूरे लोकतांत्रिक विश्व की ‘‘जीत” है। मोदी ने कहा, ‘‘पदभार संभालने के कुछ ही दिनों बाद, मित्रों, मैं आपके बीच उपस्थित होकर अत्यंत प्रसन्न हूं।” जी-7 शिखर सम्मेलन इटली में अपुलिया के बोर्गो एग्नाज़िया में आयोजित किया जा रहा है। मोदी ने कहा कि भारत में आम चुनाव में 2,600 से अधिक राजनीतिक दलों ने हिस्सा लिया तथा 10 लाख से अधिक मतदान केंद्र बनाए गए।

उन्होंने कहा कि इस चुनाव में 50 लाख से अधिक इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनें प्रयुक्त हुईं तथा डेढ़ करोड़ मतदान कर्मचारी तैनात किये गए और लगभग 97 करोड़ मतदाता थे जिनमें से 64 करोड़ लोगों ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। उन्होंने कहा कि प्रौद्योगिकी के सर्वव्यापी उपयोग से चुनावी प्रक्रिया निष्पक्ष और पारदर्शी बनी। प्रधानमंत्री ने कहा, “इतने बड़े चुनाव के नतीजे भी कुछ ही घंटों में घोषित कर दिए गए।” मोदी ने सत्र को संबोधित करते हुए कहा कि यह विश्व में लोकतंत्र और मानवता के इतिहास का सबसे बड़ा उत्सव है। उन्होंने कहा, “यह मेरा सौभाग्य है कि भारत के लोगों ने मुझे लगातार तीसरी बार सेवा करने का अवसर दिया है। पिछले छह दशकों में भारत में ऐसा पहली बार हुआ है।”

डोनेट करें - जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर क्राइम कैप न्यूज़ को डोनेट करें.
 
Show More

Related Articles

Back to top button
Close