क्राइम

जब पुलिस ने रेप पीड़िता से कहा- ‘अपने कपड़े खोलो, मैं तुम्हारे चोट के निशान देखना चाहता हूं’

राजस्थान के करौली जिले में  गैंगरेप की शिकार हुई पीड़िता की आत्मा उस समय तार-तार हो गई जब पुलिस ने कहा कि अपने कपड़ों खोल कर अपनी चोटें दिखाओं।  सामूहिक दुष्कर्म पीड़िता ने मजिस्ट्रेट पर गंभीर आरोप लगाए हैं। पीड़िता ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है…

 नेशनल डेस्क 

राजस्थान के करौली जिले में  गैंगरेप की शिकार हुई पीड़िता की आत्मा उस समय तार-तार हो गई जब पुलिस ने कहा कि अपने कपड़ों खोल कर अपनी चोटें दिखाओं।  सामूहिक दुष्कर्म पीड़िता ने मजिस्ट्रेट पर गंभीर आरोप लगाए हैं। पीड़िता ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है कि जब वह अपने बयान दर्ज कराने मजिस्ट्रेट के पास पहुंची तो मजिस्ट्रेट ने चोटों को देखने के लिए कपड़े खोलने के लिए कहा।

शिकायत में कहा गया है कि जब मैंने अपना बयान दिया तो मजिस्ट्रेट ने मुझे रोका और कहा- अपने कपड़े खोलो, मैं तुम्हारे शरीर पर चोट के निशान देखना चाहता हूं। पुलिस ने मजिस्ट्रेट के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है।

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि राजस्थान के हिंडौन सिटी क्षेत्र निवासी 18 वर्षीय पीड़िता के साथ 19 मार्च को कुछ युवकों ने दुष्कर्म किया था। पीड़िता ने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया और कोर्ट के आदेश पर 27 मार्च को हिंडौन सदर थाने में मामला दर्ज किया गया।

पीड़िता का आरोप है कि बयान दर्ज करने के बाद मजिस्ट्रेट ने उसे रोका और ‘कपड़े खोलने’ को कहा। इसके बाद पीड़िता ने हिंडौन कोतवाली पुलिस स्टेशन में मजिस्ट्रेट के खिलाफ मामला दर्ज कराया। मामले की जांच करौली एसटी-एससी सेल प्रभारी उपाधीक्षक मीना मीना को सौंपी गई है।

रिपोर्ट दर्ज कराने के बाद पीड़िता ने कहा कि मजिस्ट्रेट ने मुझसे जो भी कहा कि मैं नहीं चाहती कि ऐसा किसी और पीड़िता के साथ हो। इसलिए जरूरी है कि आरोपी मजिस्ट्रेट को सजा मिले।

डोनेट करें - जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर क्राइम कैप न्यूज़ को डोनेट करें.
 
Show More

Related Articles

Back to top button
Close