Breaking News

देश ‘अंगूठाछाप मोदी’ की वजह से भुगत रहा है।”वे नागरिकों को भिखारी बना रहे हैं।:कांग्रेस

चुनाव प्रचार में भाषाई मर्यादा तार-तार! कांग्रेस ने PM को बताया अंगूठाछाप, विवाद शुरू….

 

,बेंगलुरु

कर्नाटक में दो सीटों पर विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस और भाजपा एक दूसरे पर बयानों के तीर छोड़ रहे हैं। तमाम मर्यादाओं को तोड़ते हुए दोनों पार्टियों ने एक-दूसरे पर जमकर हमला बोला। कांग्रेस पार्टी ने प्रधानमंत्री मोदी को अनपढ़ कहा तो भाजपा ने पलटवार करते हुए कहा कि हमारे प्रधानमंत्री ने किसी और महिला के साथ सिगरेट नहीं फूंकी और न ही बार में डांस किया।

कर्नाटक की हनागल और सिंदगी विधानसभा सीटों पर 30 अक्टूबर को उपचुनाव होना है। इससे पहले ही कर्नाटक में भाजपा और कांग्रेस दोनों पार्टियों ने मर्यादाओं को तार-तार करते हुए एक दूसरे पर हमला बोल दिया है। कर्नाटक कांग्रेस ने एक ट्वीट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अंगूठाछाप कह दिया तो भाजपा ने बिना राहुल गांधी का नाम लिए उन पर टिप्पणी की।

कर्नाटक कांग्रेस की ओर से ट्वीट किया गया, जिसमें उन्होंने कहा, ”कांग्रेस ने स्कूल बनवाए थे, इसके बावजूद मोदी ने पढ़ाई नहीं की। एक वयस्क शिक्षा कार्यक्रम था, लेकिन उन्होंने फिर भी पढ़ाई नहीं की। भीख मांगने पर प्रतिबंध है, जो भीख मांगकर आसान जीवन के आदी हैं, वे नागरिकों को भिखारी बना रहे हैं। देश ‘अंगूठाछाप मोदी’ की वजह से भुगत रहा है।”

 

कर्नाटक कांग्रेस की इस टिप्पणी पर भाजपा ने इसे अक्षम्य कहा और इसे पीएम पर व्यक्तिगत टिप्पणी करार दिया। भाजपा की कर्नाटक प्रवक्ता मालविका अविनाश ने कहा, “केवल कांग्रेस ही इतना नीचे गिर सकती है” और कहा कि टिप्पणी का जवाब देने लायक भी नहीं है।

वहीं, कांग्रेस की इस टिप्पणी पर कर्नाटक भाजपा ने भी टिप्पणी की है। कहा, ”हां हमारे प्रधानमंत्री जी से आपके नेता अलग हैं। प्रधानमंत्री ने किसी और महिला की सिगरेट नहीं फूंकी। बार में डांस नहीं किया। नशीले पदार्थों की तस्करी के मामले में नहीं फंसा। देश के लिए समर्पित जीवन जिया, अपने परिवार के लिए नहीं।।”

 

हालांकि मामले में प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता लावण्या बल्लाल ने स्वीकार किया कि ट्वीट का स्वर “दुर्भाग्यपूर्ण” था और कहा कि इस मामले में जांच की जाएगी। लेकिन ये भी कहा कि इस टिप्पणी को वापस लेने और माफी मांगने जैसा कुछ नहीं है।

इस आर्टिकल को शेयर करें

Show More

Related Articles

Back to top button
Close