देश

महंगाई के बहाने कांग्रेस ने केंद्र की मोदी सरकार पर साधा निशाना, पेट्रोल पंपों पर चलाया हस्ताक्षर अभियान

लोहरदगा

झारखंड में पेट्रोल पंपों पर हस्ताक्षर अभियान चलाकर झारखंड कांग्रेस ने केंद्र की मोदी सरकार के खिलाफ आवाज बुलंद की. पेट्रोल, डीजल, रसोई गैस एवं घरेलू सामानों में मूल्य वृद्धि के खिलाफ लोहरदगा में हस्ताक्षर अभियान चलाकर विरोध

हस्ताक्षर अभियान के दौरान कांग्रेस नेताओं ने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार के खिलाफ नारे लगाए. लोहरदगा कांग्रेस कमेटी के कार्यवाहक जिला अध्यक्ष सुखैर भगत ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि भाजपा महंगाई कम करने का वादा करके सत्ता में आई थी, लेकिन महंगाई चरम पर है. कोरोना ने पहले से ही आमजन की कमर तोड़ रखी है, ऊपर से देश में पेट्रोल, डीजल, रसोई गैस की कीमतों में लगातार बढ़ोतरी से जनता को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है लेकिन इससे केंद्र सरकार को कोई परवाह नहीं है.

जिला कार्यक्रम पर्यवेक्षक नरेंद्र लाल गोपी ने कहा कि मूल्य वृद्धि को लेकर आम जनता काफी परेशान है. लगातार बढ़ रहे पेट्रोल और डीजल के दामों से किसानों का भी जीना मुहाल हो गया है. उधर, बढ़ रहे इन दामों को लेकर खाने-पीने तक के सभी सामानों की कीमतों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है. किसान खेती के लिए डीजल का इस्तेमाल करके फसलों को पानी देकर अपना घर चला रहे थे. आज महंगे डीजल के चलते किसान अपनी फसलों को पानी तक नहीं दे पा रहे हैं. अगर जल्द ही केंद्र सरकार द्वारा डीजल और पेट्रोल के दाम में कटौती नहीं की गई तो कांग्रेस द्वारा सड़कों पर उतर का प्रदर्शन किया जाएगा.

कांग्रेस नेता डॉ अजय नाथ शाहदेव ने कहा कि सरकार हर मोर्चे पर विफल हो चुकी है, जिसे सत्ता में रहने का कोई हक नहीं है. अगर जल्द ही केंद्र सरकार ने पेट्रोल-डीजल और रसोई गैस के बढ़े दामों को वापस नहीं लिया तो कांग्रेस बड़ा आंदोलन करेगी . विधायक प्रतिनिधि निशीथ जयसवाल ने कहा कि पेट्रोल-डीजल की कीमत में उछाल से अन्य सभी आवश्यक वस्तुओं की कीमत में भी वृद्धि होती है. सात साल पहले 2014 में जब अंतरराष्ट्रीय बाजार में क्रूड ऑयल की कीमत 145 रुपये प्रति डॉलर थी, उस वक्त देश में पेट्रोल-डीजल की कीमत 70 रुपये से नीचे थी, लेकिन जब क्रूड ऑयल की कीमत 73 रुपये है, तो पेट्रोल की कीमत 100 रुपये के करीब पहुंच गयी है.

कार्यक्रम में मुख्य रूप से सांसद प्रतिनिधि अशोक यादव, हाजी शकील अहमद, प्रदीप विश्वकर्मा, शामुल अंसारी, डोमना उरांव, हाजी सद्रुल अंसारी, अनिस खान,जमील अंसारी, रविंदर सिंह, सीमा भगत, हाजी सिकंदर अंसारी, शहादत हुसैन, सत्यदेव भगत, संदीप गुप्ता, अरुण वर्मा, मंगलेश्वर उरांव, जगदीप भगत, प्रभात भगत,आज़ाद खान,दिनेश प्रसाद,नंदू शुक्ला,विर्मत भगत, विशाल डुंगडुंग,दीपक महतो,तनवीर गौहर,अनिल उरांव,दीपक ठाकुर, संगीता उरांव, सरिता देवी, ,रफीक अंसारी, नुसरत अंसारी,तारीक अनवर,निरंजन उरांव,मुस्ताक अहमद, निहाल अहमद,आजम खान जुबेर अंसारी,सूरज मुंडा, शंकर उरांव,कृष्णा उरांव,मुजम्मिल अंसारी, मुजाहिर अंसारी,प्यारी भगत,आरती देवी,उर्सिला कुजूर, उर्सुला केरकेट्टा, जीनत प्रवीण, संजय नायक, विजय भगत, बाबर खान, प्रकाश भगत,सोमी उरांव,खुर्शीद अंसारी,भैरो उरांव,महमूद अंसारी जमील अंसारी, इदरीस अंसारी, शेख सादिक, मुहम्मद आजम, रमेश उरांव, एनुल अंसारी, नीरज टोप्पो, सईद अंसारी, मुमताज अंसारी, अजमल कुरैशी, जुल्फान अंसारी आदि मुख्य रूप से मौजूद थे.

Posted By : Guru Swarup Mishra

Show More

Related Articles

Back to top button
Close