Breaking News

भारत में धर्मनिरपेक्षता पर खतरा मंडरा रहा है, मोदी संविधान के विरूद्ध कर रहे हैं काम – स्टालिन

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने कहा कि हमारे देश में सभी के साथ उचित व्यवहार करने और साथ मिलकर काम करने का विचार संकट में है। उनका मानना ​​है कि कुछ लोग सभी के साथ समान व्यवहार करने के विचार को नुकसान पहुंचाने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर संविधान के विरूद्ध काम करने का आरोप लगाया। मुख्यमंत्री ने यहां केरल मीडिया अकादमी में एक बैठक को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘सत्ता में आने के बाद प्रधानमंत्री ने कहा था कि भारतीय संविधान उनका ‘वेद’ है और उन्होंने संसद के समक्ष झुककर नमन किया था। लेकिन अब वह संविधान के विरूद्ध जा रहे हैं। लोगों को यह अहसास करना चाहिए और उसका विरोध करना चाहिए।

हम इसका जबर्दस्त विरोध करते हैं

द्रविड़ मुनेत्र कषगम (द्रमुक) के अध्यक्ष स्टालिन ने कहा, ‘‘भारत की एकता, विविधता एवं धर्मनिरपेक्षता पर खतरा है तथा सामाजिक न्याय को नष्ट करने की कोशिश की जा रही है। उसके माध्यम से वे (भाजपा वाले) भारत को नष्ट करने का प्रयास कर रहे हैं। हम इसका जबर्दस्त विरोध करते हैं। उन्होंने कहा कि कुछ लोग ‘द्रविड़’ शब्द के उल्लेख मात्र से चिढ़ जाते हैं। उन्होंने दावा किया कि तमिलनाडु और केरल के लोग एक ही द्रविड़ परिवार से हैं। उन्होंने इन दोनों राज्यों के लोगों से भारत की रक्षा के लिए डबल बैरल वाली बंदूक की तरह काम करने की अपील की।

 

डोनेट करें - जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर क्राइम कैप न्यूज़ को डोनेट करें.
 
Show More

Related Articles

Back to top button
Close