क्राइम

नाबालिग से रेप के आरोप में DWC के डिप्टी डायरेक्टर प्रमोद्य खाखा गिरफ्तार, पत्नी पर अबॉर्शन की दवा देने का आरोप

नाबालिग से रेप मामले में दिल्ली पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए आरोपी अधिकारी प्रमोद्य खाखा और उसकी पत्नी सीमा रानी को गिरफ्तार कर लिया है। नाबालिग का आरोप है दिल्ली महिला एवं बाल विकास में तैनात अधिकारी ने कई बार उसके साथ जबरन रेप किया

नेशनल डेस्क

नाबालिग से रेप मामले में दिल्ली पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए आरोपी अधिकारी प्रमोद्य खाखा और उसकी पत्नी सीमा रानी को गिरफ्तार कर लिया है। नाबालिग का आरोप है दिल्ली महिला एवं बाल विकास में तैनात अधिकारी ने कई बार उसके साथ जबरन रेप किया। उसकी पत्नी अबॉर्शन की दवा देती थी। आरोपी अधिकारी के खिलाफ पोक्सो एक्ट के तहत मामला भी दर्द किया गया है। नाबालिग लड़की प्रमोद्य खाखा को मामा बुलाती थी। दिल्ली सरकार के अधिकारी पर अपने मित्र की नाबालिग बेटी से कई बार बलात्कार करने और उसे गर्भवती करने के आरोप में मामला दर्ज किया गया है। लड़की एक अक्टूबर 2020 को अपने पिता के निधन के बाद से आरोपी और उसके परिवार के साथ रह रही थी। दिल्ली सरकार ने एक बयान में कहा, ‘‘वह (आरोपी) डब्ल्यूसीडी विभाग में उप निदेशक है। कथित मामले में FIR दर्ज कर ली गई है।

PunjabKesari

दिल्ली पुलिस ने कहा कि पीड़िता की शिकायत के आधार पर हाल ही में बुराड़ी पुलिस थाने में संबंधित धाराओं के अंतर्गत उक्त अधिकारी के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। दिल्ली पुलिस के अनुसार, लड़की ने आरोप लगाया है कि जिस अधिकारी की देखरेख और संरक्षण में वह उसके घर में रह रही थी, उसने उसके साथ बार-बार बलात्कार किया।

पुलिस ने कहा कि मामला भारतीय दंड संहिता की धारा 376 (2) (एफ) (रिश्तेदार, अभिभावक या शिक्षक या महिला का विश्वासपात्र अथवा उस पर अधिकार रखने वाले व्यक्ति की हैसियत से महिला से बलात्कार करना), 509 (किसी महिला की गरिमा को ठेस पहुंचाने के इरादे से शब्दों का प्रयोग, इशारा या कृत्य), 506 (आपराधिक धमकी), 323 (स्वेच्छा से चोट पहुंचाना), 313 (महिला की सहमति के बिना गर्भपात करना), 120बी (आपराधिक साजिश) और यौन अपराध से बच्चों का संरक्षण (पॉक्सो) अधिनियम के प्रावधान के तहत दर्ज किया गया है। पुलिस अधिकारी ने कहा कि लड़की का बयान अभी मजिस्ट्रेट के सामने दर्ज कराया जाना बाकी है और मामले की जांच की जा रही है।

दिल्ली महिला आयोग (डीसीडब्ल्यू) ने सोमवार को दिल्ली पुलिस को नोटिस जारी किया और नाबालिग से बलात्कार तथा उसे गर्भवती करने के आरोपी दिल्ली सरकार के वरिष्ठ अधिकारी की गिरफ्तारी की मांग की। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि महिला एवं बाल विकास विभाग में उप निदेशक आरोपी अधिकारी ने नवंबर 2020 और जनवरी 2021 के बीच कई बार लड़की से कथित रूप से बलात्कार किया। उन्होंने बताया कि अधिकारी की पत्नी पर भी पीड़ित को गर्भपात के लिए दवाएं देने का आरोप लगाया गया है।

PunjabKesari

दिल्ली महिला आयोग (डीसीडब्ल्यू) की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने ‘एक्स’ (पूर्व में ट्विटर) पर कहा, ‘‘जिसका काम बेटियों की सुरक्षा करना था, वही भक्षक बन जाए तो लड़कियां कहां जाएं?” मालीवाल ने कहा, ‘‘दिल्ली में महिला एवं बाल विकास विभाग में उप निदेशक के पद पर बैठे सरकारी अधिकारी पर बच्ची से यौन शोषण का गंभीर आरोप लगा है। पुलिस ने अब तक उसे गिरफ्तार नहीं किया है। दिल्ली पुलिस को नोटिस जारी कर रहे हैं। जिसका काम बेटियों की सुरक्षा करना था वही भक्षक बन जाये तो लड़कियां कहां जाएं। जल्द गिरफ्तारी होनी चाहिए।”

डोनेट करें - जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर क्राइम कैप न्यूज़ को डोनेट करें.
 
Show More

Related Articles

Back to top button
Close