दिल्ली

WFI Elections: कौन हैं अनीता श्योराण? यौन उत्पीड़न केस में दी थी गवाही, अब बृजभूषण गुट को देंगी टक्कर

रेसलिंग फेडरेशन का चुनाव 12 अगस्त को होगा. यौन उत्पीड़न मामले में फंसे होने के कारण निवर्तमान अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह चुनाव का हिस्सा नहीं हैं. महिला रेसलर अनीता श्योराण ने अध्यक्ष पद के लिए नामांकन भरा है. उन्होंने यौन उत्पीड़न मामले में बृजभूषण के खिलाफ गवाही दी थी. अनीता ने 2010 के कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड मेडल जीता था.

-010 CWG में गोल्ड मेडल जीतने वालीं रेसलर अनीता श्योराण भारतीय कुश्ती संघ के चुनाव में बृजभूषण गुट को टक्कर देंगी. (

नई दिल्ली.

बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ महिला पहलवानों के यौन उत्पीड़न के मामले में गवाही देने वाली रेसलर अनीता श्योराण रेसलिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया के चुनावी दंगल में कूद गई हैं. अनीता ने 12 अगस्त को होने वाले चुनावों के लिए नामांकन दाखिल करने के अंतिम दिन सोमवार को अध्यक्ष पद के लिए पर्चा भरा. अनीता ने 2010 में दिल्ली में हुए कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड मेडल जीता था. अगर अनीता श्योराण रेसलिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया के अध्यक्ष पद का चुनाव जीत जाती हैं तो वो भारतीय कुश्ती की अगुआई करने वाली पहली महिला होंगी. महिला पहलवानों ने वैसे कुश्ती में देश का परचम बुलंद किया है. लेकिन, जब फैसले लेने वाले हमेशा पुरुष ही रहे हैं.

WFI चुनाव के 50 सदस्यीय वोटर और उम्मीदवारों की लिस्ट में 38 साल की अनीता श्योराण इकलौती महिला हैं. अध्यक्ष पद पर उनका मुकाबला सीधे बृजभूषण शरण सिंह के खेमे के दो उम्मीदवारों से होने की संभावना है. दिल्ली कुश्ती संघ के अध्यक्ष ओलंपियन जय प्रकाश औऱ उत्तर प्रदेश के संजय सिंह भोला भी मैदान में हैं. ये दोनों उम्मीदवारों का यौन उत्पीड़न केस में फंसे बृजभूषण शरण सिंह से सालों पुराना नाता है. WFI के निवर्तमान अध्यक्ष बृजभूषण सिंह के खिलाफ मामले की सुनवाई दिल्ली की एक कोर्ट में हो रही है, जिसने एक हफ्ते पहले उन्हें जमानत दे दी थी.

रेसलिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया के चुनावों को लेकर बृजभूषण खेमे ने दिल्ली में एक मीटिंग की और इसके बाद ये दावा किया कि उन्हें चुनावों में 25 में से 20 स्टेट फेडरेशन का समर्थन हासिल है.

बृजभूषण के खिलाफ अनीता ने दी थी गवाही
इस बीच, अनीता श्योराण चुनावों में विपक्षी पैनल का नेतृत्व कर रही हैं और समझा जाता है कि उन्हें बृजभूषण शरण सिंह का विरोध करने वाले पहलवानों का समर्थन हासिल है, जिनके बारे में सरकार ने कहा था कि डब्ल्यूएफआई में शीर्ष पदों पर कौन बैठेगा, इसमें उनकी प्रमुख भूमिका होगी. वह बृजभूषण के खिलाफ यौन उत्पीड़न के आरोपों की पुष्टि करने वालों में से एक थीं.

डोनेट करें - जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर क्राइम कैप न्यूज़ को डोनेट करें.
 
Show More

Related Articles

Back to top button
Close