मनोरंजन

कहानी ही नहीं, इन 10 फिल्मों के नाम भी हैं बेहद अजीब, सुनते ही छूट जाएगी हंसी

 बॉलीवुड में कई तरह की फिल्में बनती हैं, किसी की कॉमेडी ऑडियंस को पसंद आती है तो किसी का एक्शन. लेकिन आज आपको 10 ऐसी फिल्मों के बारे में बताने जा रहे हैं जिनकी कहानी मजेदार हो या न हो पर इन फिल्मों के नाम बेहद मजेदार हैं. इन 10 फिल्मों के नाम सुनते ही आप हंसी से लोट-पोट हो जाएंगे.

नई दिल्ली.

बॉलीवुड फिल्में एंटरटेनमेंट का भंडार हैं. हिंदी फिल्म इंडस्ट्री में आपको कॉमेडी, एक्शन, सस्पेंस, थ्रिलर और रोमांस से भरपूर फिल्में मिलेंगी. आपने बॉलीवुड में कई अनोखी फिल्में देखी होंगी जिन्हें देखते ही आप हंसी से लोट-पोट हो गए होंगे. लेकिन आज आपको बॉलीवुड की कुछ ऐसी फिल्मों के नाम बताने जा रहे हैं जिन्हें सुनते ही आपकी हंसी छूट जाएगी. इन फिल्मों के नाम सुनते ही आप सोच में पड़ जाएंगे कि क्या सच में इन नामों की फिल्में हैं.

आज बॉलीवुड में अजीबो-गरीब नाम से बनी कुछ फिल्मों के बारे में बताने जा रहे हैं. इन फिल्मों के नाम सुनते ही आप हंसने लग जाएंगे, लेकिन साथ ही इन्हें बनाने वाली की क्रिएटिविटी को भी सराहेंगे. तो चलिए बताते हैं-

‘जवानी की भूल’-
‘जवानी की भूल’ में विक्रम मकंदर, सारथी, जयामालिनी, पंडरी बाई जैसे एक्टर्स मुख्य रोल में नजर आए थे.

‘जवानी की हवा’-
‘जवानी की हवा’ साल 1935 में रिलीज हुई थी. इस फिल्म में जॉनी वॉकर, वैजयंती माला, देविका रानी और प्रदीप कुमार जैसे एक्टर्स नजर आए थे.

‘दो लड़के दोनों कड़के’-
‘दो लड़के दोनों कड़के’ 1979 में आई एक कॉमेडी फिल्म थी. इस फिल्म में अमोल पालेकर, मौसमी चटर्जी, असरानी लीड रोल में नजर आए थे. इस फिल्म ने दर्शकों को खूब हंसाया था.

‘जंगल की बेटी’-
‘जंगल की बेटी’ 1988 में रिलीज हुई थी. इस फिल्म में सलमा आघा, राकेश बेदी जैसे एक्टर्स नजर आए थे. ये फिल्म एक एडवेंचर फैंटेसी फिल्म थी.

‘बंबई की बिल्ली’-
ये फिल्म साल 1936 में आई थी.

‘दामाद चाहिए’-
1985 में आई फिल्म ‘दामाद चाहिए’ का निर्देशन श्यामा गोयल ने किया था.

‘ज्वाला दहेज की’-
‘ज्वाला दहेज की’ 1982 में रिलीज हुई थी. इस फिल्म में अरुण गोविल और शोमा आनंद ने लीड रोल अदा  किया था.

‘जादूगर डाकू’-
ये फिल्म 1962 में आई थी.

‘अफलातून औरत’-
1940 में आई थी. इस फिल्म का निर्देशन दामोदर शर्मा द्वारा किया गया था.

‘एक्ट्रेस क्यों बनी’-
1939 में आई फिल्म ‘एक्ट्रेस क्यों बनी’ में पद्मा देवी और आशिक हुसैन ने मुख्य भूमिका निभाई थी

डोनेट करें - जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर क्राइम कैप न्यूज़ को डोनेट करें.
 
Show More

Related Articles

Back to top button
Close