खेल

इंग्लैंड के लिए एशेज सीरीज जीत से कम नहीं, सिर्फ तीसरी बार हुआ ऐसा, स्टोक्स को पूर्व दिग्गज ने बताया नंबर-1

एशेज सीरीज का अंत रोमांचक अंदाज में हुआ. इंग्लैंड ने अंतिम मुकाबला जीत लिया. इस तरह से सीरीज 2-2 से बराबर हो गई, लेकिन अंतिम सीरीज ऑस्ट्रेलिया ने जीती थी. ऐसे में ट्रॉफी कंगारू टीम के पास ही रहेगी.

नई दिल्ली.

इंग्लैंड ने एशेज सीरीज में बेहतरीन वापसी की. पैट कमिंस की अगुआई में ऑस्ट्रेलिया ने पहले 2 टेस्ट जीतकर सीरीज में 2-0 की बढ़त बना ली थी. इसके बाद कहा जा रहा था कि कंगारू टीम सीरीज जीत लेगी. बेन स्टोक्स ने बतौर कप्तान बेहतरीन प्रदर्शन किया है. टीम ने उम्मीद के मुताबकि स्टोक्स की अगुआई में पलटवार किया और तीसरा टेस्ट जीत लिया. इंग्लिश टीम चौथा टेस्ट भी जीतने के करीब पहुंच गई थी, लेकिन बारिश के कारण अंतिम दिन का खेल नहीं हो सका. ऐसे में ऑस्ट्रेलिया पर से सीरीज हारने का खतरा टल गया. इसी के साथ उसने एशेज सीरीज ट्रॉफी भी अपने पास सुरक्षित कर ली. अंतिम मैच के रिजल्ट पर उसका फर्क नहीं पड़ता, क्योंकि टीम ने अंतिम सीरीज जीती थी. ऐसे में सीरीज के बराबर रहने पर भी ट्रॉफी ऑस्ट्रेलिया को ही मिलती.

बेन स्टोक्स और इंग्लैंड ने ओवल में खेले गए 5वें टेस्ट में बेहतरीन प्रदर्शन किया. टीम ने 5वां टेस्ट अंतिम दिन 49 रनों से जीता. इस तरह से सीरीज 2-2 से बराबर हो गई. इंग्लैंड के पूर्व दिग्गज कप्तान माइकल वॉन ने कहा कि स्टोक्स इंग्लैंड के नंबर-1 कप्तानों में से एक हैं. उनकी अगुआई में टीम ने एशेज सीरीज लगभग जीत ही ली. एशेज के इतिहास की बात करें, तो सिर्फ तीसरी बार सीरीज 2-2 से बराबर हुई है. स्टोक्स ने बल्ले से कमाल का प्रदर्शन किया.

155 रन की बेहतरीन पारी खेली
बेन स्टोक्स ने दूसरे टेस्ट की दूसरी पारी में 155 रन की बेहतरीन पारी खेली थी और टीम को जीत के नजदीक पहुंचा दिया था. तीसरे टेस्ट की पहली पारी में उन्हाेंने 80 रन बनाए. चौथे टेस्ट में भी स्टोक्स ने 51 रन की ताबड़तोड़ पारी खेली. अंतिम टेस्ट की दूसरी पारी में भी उन्होंने अहम 42 रन बनाए. उनके ओवरऑल टेस्ट रिकॉर्ड की बात करें, तो बेन स्टोक्स ने 97 मैच में 36 की औसत से 6117 रन बनाए हैं. 13 शतक और 30 अर्धशतक ठोका है. बतौर तेज गेंदबाज 197 विकेट भी लिए हैं. 22 रन देकर 6 विकेट बेस्ट प्रदर्शन रहा है.

वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के प्वाइंट टेबल की बात करें, तो इंग्लैंड ने 5वां टेस्ट जीतकर अपनी स्थिति को मजबूत किया है. उनके 5 मैच के बाद 43.33 फीसदी अंक हैं और वह चौथे नंबर पर है. ऑस्ट्रेलिया के भी 43.33 फीसदी अंक हैं, लेकिन जीत का अंतर अधिक होने के कारण कंगारू टीम तीसरे स्थान पर काबिज है. पाकिस्तान की टीम 100 फीसदी अंक के साथ पहले जबकि टीम इंडिया 66.67 फीसदी अंक के साथ दूसरे नंबर पर है.

डोनेट करें - जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर क्राइम कैप न्यूज़ को डोनेट करें.
 
Show More

Related Articles

Back to top button
Close