Breaking News

CRPF काफिले के हमलावर का वीडियो- जब मेरा मैसेज देखोगे तब मैं जन्‍नत के मजे लूट रहा होऊंगा

वीडियो में दक्षिण कश्‍मीर के काकपोरा के रहने वाले वकास जैश के झंडे के आगे बैठा हुआ दिख रहा है. उसके आगे ग्रेनेड और अत्‍याधुनिक राइफलें रखी हुई हैं.

जम्‍मू कश्‍मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हमले के कुछ ही मिनट बाद आतंकी संगठन जैश ए मोहम्‍मद ने इसकी जिम्‍मेदारी ली. जैश ने काफिले पर फिदायीन हमला करने वाले आतंकी आदिल ऊर्फ वकास का वीडियो जारी किया. वीडियो में दक्षिण कश्‍मीर के काकपोरा के रहने वाले वकास जैश के झंडे के आगे बैठा हुआ दिख रहा है. उसके आगे ग्रेनेड और अत्‍याधुनिक राइफलें रखी हुई हैं.

वीडियो की शुरुआत करते हुए वह कहता है, ‘जब तक यह वीडियो आप लोगों तक पहुंचेगा उस समय मैं जन्‍नत में मजे लूट रहा होऊंगा. मैंने जैश ए मोहम्‍मद में आतंकी के रूप में एक साल बिताया और यह मेरा कश्‍मीर के लोगों के लिए आखिरी मैसेज है.’

वकास वीडियो में कहता है कि जैश ने पहले भी भारत में ह‍मले किए हैं जैसे विमान अपहरण, 2001 संसद हमला, नगरोटा हमला, उरी हमला और पठानकोट एयरबेस हमला.

उसने उत्‍तर कश्‍मीर के लोगों को भड़काते हुए कहा कि दक्षिण कश्‍मीर में लोग भारत के खिलाफ लड़ रहे हैं और अब उत्‍तर व मध्‍य कश्‍मीर के साथ ही जम्‍मू के लोगों के भी लड़ने का समय आ गया है.

वीडियो में वकास कह रहा है, ‘हमारे कुछ कमांडरों को मारकर तुम हमें कमजोर नहीं कर पाओगे.’ उसने कश्‍मीर में सुरक्षा बलों पर हाल ही के दिनों किए गए आईईडी और स्‍नाइपर हमलों का भी जिक्र किया.

स्‍थानीय पुलिस सूत्रों ने बताया कि आदिल हुसैन डार 19 मार्च 2016 को पुलवामा के गुंडीबाग से गायब हो गया था. उसके दो दोस्‍त तौसीफ और वसीम भी गायब हो गए थे. तौसीफ का बड़ा भाई मंजूर अहमद डार भी आतंकी था जो 2016 में मारा गया था. आदिल ने स्‍कूली पढ़ाई बीच में ही छोड़ दी थी और वह एक मेसन में काम किया करता था. वह स्‍थानीय मस्जिद में अजान भी दिया करता था. उसके दो भाई हैं.

पुलवामा का हमला कश्‍मीर में पिछले दो दशकों का सबसे बड़ा आतंकी हमला है. इससे पहले 2001 में जैश ए मोहम्‍मद ने ही श्रीनगर सचिवालय के बाहर आत्‍मघाती हमला किया था. इसमें 38 लोगों की जान गई थी और 40 घायल हुए थे. आज का हमला 2016 के उरी हमले से भी बड़ा है. इस हमले में 19 जवान शहीद हुए थे

Show More

Related Articles

Back to top button
Close